हाथियों के आतंक ने 3 साल में छीनी 200 जिंदगियां

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा




छत्तीसगढ़ के जशपुर में हाथियों के आतंक ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है। शहर में आए दिन युवक-युवतियां हाथियों द्वारा किए जाते हमले का शिकार हो रहे हैं। ऐसी ही एक घटना सोमवार को सामने आई जब एक जंगली हाथी के हमले का शिकार हुई महिला ने दम तोड़ दिया। इसके अलावा मंगलवार को दो युवकों पर हाथी ने हमला कर दिया जिसके बाद उनकी मौके पर ही मौत हो गई।
घटना तपकरा वन परिक्षेत्र के बाबूसाजबहार की है। इस घटना की सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम ने घटनास्थल का दौरा किया और हाथियों को भगाने की कवायद शुरु कर दी है। बता दें कि एक हाथी ने सोमवार को तपराकर रेंज में एक महिला को सूंड से खींचकर कुचल दिया था। घटना के दौरान बरटोली निवासी महिला अपने पति के साथ बाइक से बाजार जा रही थी। इससे पहले भी रायमुंडा निवासी 50 वर्षीय सुखो बाई पर भी हाथियों ने हमला किया था। जानकारी के अनुसार, इस तरह की घटना में पिछले तीन सालों के भीतर करीब 200 लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। इन सभी घटनाओं के बावजूद स्थानीय प्रशासन या वन विभाग ने सतर्कता नहीं बरती जिसके नतीजतन हादसों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।