बाबरी विध्वंस केस में लालकृष्ण आडवाणी, कल्याण सिंह, और उमा भारती सहित सभी 32 आरोपी बरी

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



अयोध्या में 6 दिसम्बर 1992 को बाबरी के विवादित ढांचे को गिराए जाने के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने बुद्धवार को अपना फैसला सुना दिया। 28 साल तक चली सुनवाई के बाद ढांचा विध्वंस के आपराधिक मामले में बीजेपी के भाजपा के वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, उमा भारती, विनय कटियार समेत सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया है। इस मामले में कुल 49 आरोपी थे, जिनमें 17 आरोपियों की मौत हो चुकी है। जज एसके यादव ने फैसला सुनाते हुए कहा कि विवादित ढांचा गिराने की घटना पूर्व नियोजित नहीं थी, ये घटना अचानक हुई थी।