कोविडकाल में रद्द की गई 10वीं की परीक्षा के लिए सीबीएसई ने की अंक निर्धारण नीति की घोषणा, जून में आएगा रिजल्ट

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, सीबीएसई ने देश में कोविड-19 महामारी के खतरे के चलते इस वर्ष 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द कर दिया था। ऐसे में 2021 के 10वीं के परिणाम के लिये शनिवार को सीबीएसई ने एक अंक निर्धारण नीति की घोषणा की। इस नीति के अनुसार हर विषय में बीते सालों की तरह 20 प्रतिशत अंक आंतरिक मूल्यांकन जबकि 80 प्रतिशत अंक पूरे वर्ष के दौरान हुईं विभिन्न परीक्षाओं के आधार पर दिये जाएंगे। सीबीएसई ने रद्द हो चुकीं 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं की परिणाम सारणी तैयार करने के लिये स्कूलों को आठ सदस्य समिति गठित करने का निर्देश दिया है। बता दें कि सीबीएसई दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के परिणाम 20 जून तक घोषित किए जाएंगे।
सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा, ''स्कूलों को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि उनके द्वारा प्रदान किये गए अंक 10वीं की पिछली बोर्ड परीक्षाओं में स्कूल के प्रदर्शन के अनुरूप हों। स्कूलों को परिणामों को अंतिम रूप देने के लिये प्रधानाध्यापक के नेतृत्व में आठ सदस्यीय समिति गठित करनी होगी।'' उन्होंने आगे कहा, ''मूल्यांकन में पक्षपातपूर्ण और भेदभावपूर्ण रवैया अपनाने में संलिप्त स्कूलों पर जुर्माना लगाया जाएगा या फिर उनकी संबद्धता रद्द कर दी जाएगी।''