पहचाने हल्दी के औषधीय गुण

आईआईएमटी न्यूड डेस्क, ग्रेटर नोएडा



हल्दी का उपयोग एक आम बात है। आर्युवेद में भी हल्दी के गुणों को लेकर काफी कुछ कहा गया है। मांगलिक कार्यों से लेकर हमारे खानपान में इसको शामिल किया गया है। इसी के साथ ही बीमारी में भी इसका सेवन खूब किया जाता है। हल्दी में बहुत से विटामिन और पौषक तत्व छिपे होते हैं। विशेषज्ञों का मानना हैं कि हल्दी एंटीवार्टिक तत्व हैं। प्रतिरोधक क्षमका को बढ़ाने में हल्दी काफी सेहतमंद हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरिया, एंटीफंगल और प्रोटीन, फायबर, विटामिन सी, विटामिन के, पोटैशियम, कैल्सियम, कॉपर, आयरन, मैग्निशियम और जिंक पर्याप्त मात्रा में पायी जाती हैं। सबसे बड़ा गुण हल्दी में करक्यूमन पाया जाता हैं। इसको अधिकतर डायजेशन बढ़ाने, लौक्टोज़, इंटॉलरेंस की समस्या से कंट्रोल, दिमागी पॉवर बढ़ाने में और डिप्रेशन की गंभीर बीमारियों से छुटकारा दिलाता हैं। हल्दी के सेवन से प्रमुख फायदे-
कैंसर में हल्दी का उपचार- खाली पेट सुबह हल्दी पॉउडर को गर्म पानी से खाने पर कैंसर के लक्षण मे कमी आती हैं।
गठिया रोग- हल्दी मे एंटीऑक्सीडेंट पॉपर्टीज होने के कारण फ्री रेडिकल्स में राहत देती हैं, कोशिकाओं में स्फूर्ती डालती है।
कोलेस्ट्रोल- हल्दी का नियमित सेवन करने से कोलेस्ट्रोल को कम किया जा सकता हैं।
प्रतिरोधक क्षमता- सर्दी खांसी, जुकाम और फ्लू से बचने का रामबाण उपाय हैं। शारीरिक थकावट महसूस हो तो एक चम्मच हल्दी में एक गिलास दूध का सेवन करें।
डायबटीज- चिकित्सकों के लुझाव के बाद हल्दी का सेवन करने से गुलुकोसे की मात्रा कंट्रोल में रहती है।
घाव मिटाने मे- इंफेक्शन में हल्दी काफी सेहतमंद हैं। इसका उपयोग प्राचीन काल से किया जा कहा हैं। शरीर से बहते खून को क्षण भर में रोक देता हैं।
पाचन और लीवर- कब्ज एसीडिटी और गैस की समस्या का निस्तारण बखूबी करता है। लीवर से जुड़ी दिक्कतों में भरोसे मंद उपचार हैं।
स्किन में हल्दी और मलाई के लेप से सौंदर्यता में निखार आता हैं। दांतों के दर्द में काफी प्रभावी हल्दी होती हे। शरीर से जुड़ी ढ़ेर सारी बीमारियों में हल्दी अमृतमई गुणों वाली हैं।