कोरोना के कारण 10वीं-12वीं की महाराष्ट्र बोर्ड परीक्षाएं स्थगित, सरकार बोली- लोगों का स्वास्थ्य पहली प्राथमिकता

आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क, ग्रेटर नोएडा



कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय लिया है। सूबे की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ का कहना है कि कोरोना वायरस की वर्तमान स्थिति परीक्षा आयोजित करने के लिए अनुकूल नहीं है। उन्होंने ट्विटर के जरिए इसकी जानकारी दी और लिखा कि छात्रों का स्वास्थ्य सरकार की पहली प्राथमिकता है। सरकार सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड को भी परीक्षाएं स्थगित करने के लिए खत लिखेगी। आपको बता दें कि महाराष्ट्र में बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं मई के अंत तक और दसवीं परीक्षा जून में आयोजित की जाएगी। पहले ये परीक्षा अप्रैल के अंतिम सप्ताह में निर्धारित की गई थी। सूबे की शिक्षा मंत्री का कहना है कि कोरोना वायरस की वजह से पैदा हुई स्थिति को देखते हुए सूबे की दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय लिया है। उनका कहना है कि दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय शिक्षा हितधारकों, राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों और अन्य लोगों के साथ परामर्श के बाद लिया गया है। हालांकि, अभी दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षाओं की नई तारीखों की घोषणा नहीं हुई है। बता दें कि सूबे में पहली से लेकर नौवीं और ग्यारहवीं कक्षा के छात्रों को इस साल बिना परीक्षा के ही पदोन्नत किया जाएगा।