वैक्सीनेशन को लेकर ब्राजील में धरने पर बैठी सेक्स वर्कर, कहा- हम भी फ्रंटलाइन वर्कर्स

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया के लोगों को तबाह कर दिया है। हर कोई कोरोना के कारण प्रभावित हुआ है। इसकी वजह से लाखों लोगों को अपनी नौकरी से हाथ गवाना पड़ा, वहीं अपने और परिवार का पेट भरने के लिए पूरी दुनिया में लोगों को अपना पेशा तक बदला पड़ा। अब कोरोना वैक्सीन आ गई है तो थोड़ी राहत की बात है। ऐसे में हर किसी नागरिक का कोरोना वैक्सीन की खुराक ले लेना जरूरी बन जाता है। हर कोई कोवैक्सीन लगवाना चाहता है, वहीं सरकारें प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीनेशन कर रही हैं। वैक्सीनेशन को लेकर ब्राजील के दक्षिणपूर्व शहर बेलो होरिजोंटे में वहां की वेश्याएं एक सप्ताह के धरना प्रदर्शन पर बैठ गई हैं। इन वेश्याओं की मांग है कि वैक्सीनेशन की प्राथमिकता सूची में इन लोगों को भी शामिल किया जाए। इनका कहना है कि वेश्यावृत्ति की लाइन में काम करने वाली औरतों ने भी महामारी के दौरान कई तरह की परेशानियां झेलनी पड़ी। गौरतलब है कि कोरोना महामारी के दौरान होटल बंद कर दिए गए थे, इस कारण इन लोगों को किराए के कमरे लेकर काम करना पड़ा। मिनास गैरेस राज्य के वेश्याओं के संघ की अध्यक्ष सीडा विएरा ने कहा कि हम फ्रंटलाइन में खड़े हैं, हम भी फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं और हम अर्थव्यवस्था चला रहे हैं, ऐसे में हम पर भी जोखिम की तलवार लटकी हुई है। धरने पर बैठी एक वेश्या ने हम हर दिन अलग-अलग लोगों से मुलाकात करते हैं और अपने जीवन को जोखिम में डालते हैं। महिला ने बताया कि सरकार ने पहले ही स्वास्थ्य कर्मचारियों, अध्यापकों, बुजुर्गों और पहले से बीमार लोगों को वैक्सीन लगाने के प्राथमिक समूह में शामिल किया हुआ है।