समुद्र जगत का अमर जीव, जेलीफिश की एक प्रजाती: टुरिटॉपसिस डॉहर्नी

आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क, ग्रेटर नोएडा



समुद्री दुनिया के अंदर ना जाने क्या-क्या अनोखे राज़ छुपे हुए हैं। क्या कोई सोच सकता है कि दुनिया में कोई ऐसा भी जीव हो सकता है जो बायोलॉजिकली कभी ना मरे। ऐसे एक जीव के बारे में अभी पता चला है। इस जीव की खासियत है कि ये सेक्सुअली मैच्योर होने के बाद वापिस बच्चा बन जाता है और फिर खुद को विकसित कर लेता है। ऐसे ही इनकी लाइफ साइकिल रिपीट मोड पर चलती रहती है। समुद्र में रहने वाले इस जीव का नाम टुरिटॉपसिस डॉहर्नी है। यह जेलीफिश कि एकलौती ऐसी प्रजाती है जिसे अमर रहने का वरदान प्राप्त है, इसलिए इसे अमर जेलिफीश भी कहते हैँ। दरसअल, टुरिटॉपसिस डॉहर्नी में खास तरह की कोशिकाएं पायी जाती हैं। ये आकार में छोटी और ट्रांसपैरेंट होती है।
टुरिटॉपसिस डॉहर्नी को पहली बार प्रसांत महासागर में पाया गया था। आकार में छोटे होने के कारण अब इनका सामाराज्य लगभग दुनिया के सभी सागर में फैल चुका हैं। जेलीफिश की अनेक प्रजातियों की उम्र कुछ घंटों या फिर कुछ महीनों की होती है लेकिन टुरिटॉपसिस डॉहर्नी जेलीफिश इकलौती ऐसी प्रजाती है जिसे अमरता प्रदान है।