सेहत और सौंदर्य का खजाना पुदीने की पत्तियां

, आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



पुदीना एक ऐसा पौधा है, जिसका इस्तेमाल आमतौर पर रसोई में चटनी के तौर पर किया जाता है. पुदीने की कई सारी खूबियां हैं. ये आपके भोजन को पचाने में कारगर तो है ही. इसके साथ ही ये पेट में होने वाले कई सारे रोगों के इलाज के लिए भी उपयोगी साबित होता है.
लेकिन पुदीने का इस्तेमाल करने की सही विधि का जानना बहुत ही जरूरी है. आज हम आपको पुदीना से होने वाले फायदों के बारे में तो बताएंगे ही. ये भी बताएंगे कि इसका सही इस्तेमाल आप किस तरह से कर सकते हैं?
चटनी, पना, रायता, पुलाव, जूस और मिनिरल्स बॉटर में मिलाकर इसका सेवन किया जाता है। गर्मियों के मौसम में नीबू और पुदीना दैनिक जीवन का हिस्सा बन जाता है। अधिकांश सभी घरों में पुदीना और नीबू रखा मिल जाएगा। पुदीना की पत्तियों के लेप या जूस का सेवन सौदर्य निखार लाने के लिए करते है। इसमें विटामिन ए और सी आयरन मैंगनीज, फोलेट, कैलोरी, एंटी ऑक्सिडेंट और ऑक्सीडेटिव पोषक तत्व पाए जाते हैं। पुदीना कैंसर, लीवर, बुखार, खांसी - जुकाम, जलन, कब्ज गैस, मतली, पेट में दर्द, आंतों में ऐठन तनाव, यादाश्त, पाचन और मिर्गी सहित अन्य रोगों से मुक्ति दिलाता। इसके कई ब्यूटी प्रोडक्ट, फेश बॉश, साबुन, बॉडी क्लींजर को एंटीसेप्टिक एंटीबायोटिक गुणों से बने प्रोडक्ट प्रयोग में लाए जाते है। चेहरे की त्वचा में निखार लाने के लिए दो चम्मच दही और दो चम्मच पिसा पुदीना को मिलाकर दस मिनट चेहरे की मसाज कर धूल लेने से झुर्रियां और दाग धब्बे खत्म होकर चेहरे पर निखार आता है।