आईआईएमटी में वर्चुअल लैब पर वेबिनार, 200 शिक्षकों ने लिया भाग

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



राजतिलक शर्मा


शहर के नॉलेज पार्क स्थित आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजिनियरिंग में वर्चुअल लैब पर वेबिनार का आयोजन किया गया। इंजिनियरिंग कॉलेज के डॉयरेक्टर गौरव सिन्हा ने आपस में सभी लोगों का परिचय कराया। इस वेबिनार के माध्यम से आईआईएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने कहा कि कोविड-19 ने विश्व के तौर तरीकों को पूरी तरह से बदल दिया है। अब शिक्षा के क्षेत्र में भी अधिक से अधिक टेक्नोलॉजी का सहारा लेना होगा। इस बदलाव के साथ ही हमें काम करना होगा। वहीं आईआईएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज के चेयरमैन योगेश मोहन गुप्ता ने कहा कि आवश्यकता ही आविष्कार की जन्नी होती है। कोरोना महामारी ने भारत ही नहीं बल्कि समस्त विश्व में काम-काज के तरीकों को पूरी तरह से बदल दिया है। देश में सभी को अब सरकार की गाइडलाइन के अनुसार काम करना पड़ेगा। दूसरी तरफ इस वेबिनार में ड़ॉ आशुतोष तिवारी, डीन राजकीय इंजिनियरिंग बांदा और डॉ कान्तेश बालानी प्रोफेसर आईआईटी कानपुर ने छात्रों के सिलेबस के अंतर्गत आने वाली विभिन्न लैबों पर व्याख्यान दिया। आयोजन में पंजाब, तमिलनाडू, राजस्थान, कर्नाटक. उत्तर प्रदेश. दिल्ली-एनसीआर के 200 शिक्षकों ने भाग लिया। वहीं प्रो. विनय कुमार पाठक वाइस चांसलर एकेटीयू लखनऊ ने भी वेबिनार के माध्यम से अपने विचार सभी के सामने रखे। कॉलेज द्वारा किए गए वेबिनार का संचालन डॉ सीमा नायक एचओडी ईसीई और वर्चुअल लैब कोडिनेटर शाश्वत दास ने किया। कॉलेज के डिप्टी डॉयरेक्टर संजय पचौरी ने भी वर्चुअल लैब के माध्यम से अपने विचार सभी लोगों के सामने रखे।