एकेटीयू में 65 फीसदी अंक पाने पर मिलेगा प्रवेश आईआईएमटी न्यूज

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) से एफिलिएटेड इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर,और फार्मेसी के कॉलेजों में पीजी में सीधे प्रवेश केवल उन छात्रों को ही दिया जाएगा जिसने स्नातक में 65 फीसदी अंक प्राप्त किए हैं। साथ ही, गेट, जीपैट क्वालीफाई अभ्यर्थी को प्राथमिकता दी जाएगी। कड़े नियम के चलते इस बार भी कॉलेजों को परेशानी झेलनी पड़ सकती है।
विश्विद्यालय के मीडिया प्रभारी आशीष मिश्रा का कहना है कि शिक्षा की गुणवत्ता के लिए ये नियम बनाए गए हैं। एकेटीयू से संबद्ध सरकारी व प्राइवेट संस्थानों में कुल मिलाकर पीजी की लगभग 5000 सीटें हैं जिसमें काफी सीटें खाली रह जाती हैं। इस बार भी पीजी में आवेदन कम आए हैं। विश्विद्यालय द्वारा राज्य प्रवेश परीक्षा (एसईई) आयोजित की जाती है जिसमें पीजी में प्रवेश के लिए स्नातक में 50 फीसदी अंक ही जरूरी हैं। इसके बावजूद भी छात्रों का इस तरफ रुझान नहीं बढ़ता। इस संबंध में यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार नंदलाल सिंह ने संबद्ध प्राइवेट संस्थानों को पत्र भेजकर सत्र 2019- 20 में सामान्य व ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों के किए 65 फीसदी और एससी व एसटी के अभ्यर्थियों के लिए 60 फीसदी अंक अनिवार्य करने को कहा गया है।



कुछ खास बातें-

• 15 जून से विश्वविद्यालय द्वारा संबद्ध संस्थानों में पीजी में प्रवेश की पहले चरण की काउंसलिंग शुरू होगी। उसी दिन एमटेक, एमफार्मा, एमआर्क एमडेश में प्रवेश के लिए रजिस्टर्ड गेट, जीपैट, सीड क्वालीफाई अभ्यर्थीयों का डॉक्यूमेंट वेरीफिकेशन होगा।
• 16 जून को सीट अलॉट की जाएंगी।
• 22 जून को बचे हुए अभ्यर्थियों का डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होगा।
• 24 जून को उन्हें सीट अलॉट की जाएंगी।
• 24 जून से ही बची सीटों पर एसईई क्वालीफाई अभ्यर्थियों की कॉउंसलिंग होगी। सीट अलॉटमेंट व कन्फर्मेशन के समय छात्रों को 50 हजार का डिमांड ड्राफ्ट भी लाना होगा जिसे विद्यार्थी के अलॉट कॉलेज को फीस के रूप में सौंपा जाएगा।