आईआईएमटी कॉलेज में सात दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम संपन्न

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



ग्रेटर नोएडा. आईआईएमटी कॉलेज ऑफ़ मैनेजमेंट, ग्रेटर नोएडा में आयोजित ऑनलाइन सात दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम मंगलवार को संपन्न हो गया. इस कार्यक्रम का आयोजन डॉ. बी.आर.अंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय, महू, मध्यप्रदेश के साथ मिलकर किया गया था. समापन के मौके पर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. आशा शुक्ला ने कहा कि फैकल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम से फैकल्टी को शोध के जरिये अकादमिक विकास करने का मौका मिलता है. शोध करने में हमें सामाजिक मुद्दों को अधिक ध्यान रखना चाहिए. इस मौके पर प्रख्यात समाज विज्ञानी प्रो.डी.के. वर्मा ने कहा कि शोध की आत्मा को ध्यान में रखकर किया गया कार्य भविष्य में प्रासंगिक होता है. संगम विश्वविद्यालय, भीलवाड़ा के कुलपति प्रोफ़ेसर के.पी. यादव ने कहा कि हर संस्था को शोध के लिए फंडिंग पर ध्यान देना चाहिए, जिससे समाज हित में कार्य किया जा सके. डॉ. मनीषा सक्सेना ने भी शोध की बारीकियों से प्रतिभागियों को अवगत कराया. इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि आईजीएनटीयू, अमरकंटक के प्रोफ़ेसर राघवेन्द्र मिश्र ने कहा कि वर्तमान समय में जिस तरह से फेक डेटा सामने आ रहे हैं, ऐसे में फेक्ट चेकिंग का शोध में अहम स्थान है. आईआईएमटी कॉलेज ऑफ़ मैनेजमेंट के निदेशक प्रोफ़ेसर राहुल गोयल ने जानकारी देते हुए बताया कि इस कार्यक्रम में बीस से अधिक राज्यों के करीब दो सौ संस्थाओं के अकादमिक क्षेत्र से जुड़ी फैकल्टी और शोधार्थी शामिल हुए. एफडीपी निदेशक प्रो. अनिल कुमार निगम ने कहा कि इस तरह के फैकल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम होते रहने चाहिए. इस कार्यक्रम का संयोजन डॉ. मनोज कुमार गुप्ता और डॉ. रामशंकर ने मिलकर किया था.