कोल्हापुर का महालक्ष्मी मंदिर है दुनिया में प्रसिद्ध, दर्शन करने पहुंचते है लाखों भक्त

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



महाराष्ट्र के कोल्हापुर में स्थापित महालक्ष्मी मंदिर की खूबसूरती से श्रद्धालु मग्न-मुग्ध हो जाते हैं। लाखों की भीड़ मंदिर दर्शन के लिए आती है। मंदिर हवाई, सड़क और रेल मार्ग से जुड़ा है। हवाई मार्ग से जाने वाले लोगों को उजलवाड़ी इंटरनेशनल हवाई अड्डा (कोल्हापुर हवाई अड्डा) से 9 किमी की दूरी टैक्सी से तय करनी पड़ती है। जबकि रेल मार्ग से जाने के लिए छत्रपति शाहू रेलवे स्टेशन पहुंचना पड़ता हैं। बस से यात्री सीधा मंदिर के पास पहुंच सकते हैं। महाराष्ट्र सड़क परिवहन निगम लिमिटेड के द्वारा मिराज, मुबंई, सांगली, सतारा औऱ पणजी से बस सेवा प्रदान करता हैं। बता दें कि कोरोना काल के चलते मंदिर में प्रवेश वर्जित कर दिया गया है। मंदिर जाने वाले श्रद्धालुओं के ठहरने की उचित व्यवस्था हैं। शहर में स्पेशल होटल और सामान्य धर्मशालाएं भी हैं। मान्यता के अनुसार देवी सती के अंग से तीन नेत्र इसी स्थान पर गिरे थे। ऐसा माना जाता हैं कि माता लक्ष्मी जी भगवान विष्णु से रूठकर इसी स्थान पर आईं थी। मंदिर में 40 किग्रा की धातु से बनी मूर्ति स्थापित हैं। बता दें कि मंदिर के नजदीक मणिकर्णिका कुंड के तट पर विश्वेश्वर महादेव का प्राचीन मंदिर स्थापित हैं।