यूआईडीएआई नहीं जारी करेगा अवैध अप्रवासियों को आधार नंबर, 127 को भेजा नोटिस

अनन्या सिंह, आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क, ग्रेटर नोएडा



यूनीक आईडेन्टिफिकेशन ऑथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) ने अवैध अप्रवासियों के लिए आधार नंबर जारी करने से साफ इंकार कर दिया है। इसी के साथ यूआईडीएआई की हैदराबाद ब्रांच ने कथित तौर पर गलत दस्तावेज़ भेजने वाले 127 लोगों को तुरंत हाज़िर होने के लिए नोटिस भेजें हैं।

यूआईडीएआई ने बताया कि आधार कार्ड जारी करने के लिए अनुरोध करने के 182 दिनों के अंदर ही उन लोगों के दस्तावोज़ों की प्रमाणिकता की जांच की जाती है। इसी जांच के दौरान इन 127 लोगों के नाम सामने आए हैं।

यूआईडीएआई ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें निर्देशित किया है कि वो किसी भी अवैध अप्रवासी के लिए 12 अंकों की आधार बायोमेट्रिक आईडी ना जारी करें और उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि इन सबका नागरिकता से कोई संबंध नहीं है । इसीलिए, हैदराबाद स्थित क्षेत्रीय कार्यालय ने उन्हें व्यक्तिगत रूप से पेश होने और आधार नंबर प्राप्त करने के लिए अपने दावों को प्रमाणित करने के लिए नोटिस भेजा है।

यूआईडीएआई ने कहा कि यदि यह साबित हो जाता है कि उनमें से किसी ने भी गलत दस्तावेज़ जमा करके या झूठे तरीकों के जरिये आधार बायोमेट्रिक आईडी हासिल की है, तो उनके आधार को रद्द किया जा सकता है या फिर अपराध की गंभीरता के आधार पर निलंबित भी किया जा सकता है।

साथ ही यूआईडीएआई ने यह भी कहा कि उन्हें अपेक्षित दस्तावेज़ों को इकट्ठा करने के लिए अतिरिक्त समय भी दिया गया है, क्योंकि जैसा कि राज्य पुलिस द्वारा सूचित किया गया है, जो दस्तावेज़ उन्होंने आधार प्राप्त करने के लिए जमा किए थे, उन्हें उनको इकट्ठा करने में कुछ और समय लग सकता है।