उत्तर भारत के कई इलाकों के साथ पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में भूकंप के झटके, ताजिकिस्तान रहा केंद्र

सौरभ, आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



बीती रात करीब 10.30 बजे दिल्ली- एनसीआर समेत उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए. दिल्ली एनसीआर के साथ-साथ असर हरियाणा, राजस्थान और जम्मू कश्मीर में भी इसका असर देखने को मिला। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.3 रही। भूकंप का केंद्र ताजिकिस्तान रहा। इससे पहले इसका केंद्र पंजाब के अमृतसर में बताया जा रहा था।
दरअसल, नेशनल सेंटर फॉर सेस्मोलॉजी की ओर जानकारी दी गई कि अमृतसर में रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.1 दर्ज़ की गई है। लेकिन बाद में अमृतसर में भकूंप के केंद्र होने की बात से मौसम विभाग ने इनकार कर दिया और भूकंप का असली केंद्र ताजिकिस्तान में बताया गया। राहत की बात यह रही कि तत्काल जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ।
2001 का वो विनाशकारी भूकंप
जब-जब भारत भूकंप से कापंता है हर कोई साल 2001 में हुए हादसे के बारे में जरूर सोचता है, वर्ष 2001 में 26 जनवरी के दिन जब गुजरात के कच्छ में कुदरत का कहर टूटा था। इसके यादें आज भी भारत के सभी लोगों के जेहन मौजूद हैं। आज भी वो दिन कोई नहीं भूल सकता। 6.9 की तीव्रता वाले इस भूकंप का गुजरात के कच्छ में तबाही मचाई थी। जिस विनाशकारी तबाही ने पूरे कच्छ की सूरत ही बदलकर रख दी। इस भयानक भूकंप ने गुजरात के तकरीबन 24 जिलों में गांवों और शहरों को तबाह कर दिया था।