लखनऊ और नोएडा में कमिश्नरी सिस्टम लागू

निधि गहलौत, आईआईएमटी न्यूज़



योगी आदित्यनाथ सरकार ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम को मंजूरी दे दी है। सोमवार को लखनऊ में हुई कैबिनेट बैठक में इस फैसले को मंजूरी मिल गई है। इसी क्रम में सुजीत पांडेय को लखनऊ का पहला पुलिस कमिश्नर बनाया गया है। वहीं, आलोक सिंह नोएडा के पहले पुलिस कमिश्नर बनाए गए हैं।
इस फैसले की घोषणा करते हुए, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में पुलिस व्यवस्था में सुधारों की लंबे समय से जरूरत थी, लेकिन पिछली सरकारों की ओर से राजनैतिक इच्छाशक्ति की कमी ने व्यवस्था को लागू नहीं होने दिया। बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए, सीएम आदित्यनाथ ने कहा कि लखनऊ और नोएडा में पुलिस आयुक्त के रूप में एक एडीजी स्तर के अधिकारी होंगे। दोनों पुलिस आयुक्तों के पास मजिस्ट्रियल शक्तियां होंगी। उन्होंने यह भी कहा कि लखनऊ की आबादी आज करीब 40 लाख है और नोएडा में 25 लाख से अधिक आबादी है। इनमें महिलाओं की तादाद भी अच्छी खासी है। ऐसे में महिला सुरक्षा के लिए महिला आईपीएस की तैनाती की जा रही है साथ ही एक महिला एएसपी की भी तैनाती की जा रही है। इसके अलावा नोएडा में भी दो नए थाने बनाए जाएंगे।

क्या है कमिश्नरी सिस्टम-
कमिश्नरी सिस्टम में पुलिस कमिश्नर का पद सबसे ऊंचा पद है। इस सिस्टम से पुलिस कमिश्नर के पास CRPC के तहत कई अधिकार होते है। इसके अंतर्गत पुलिस एक टीम के रूप में काम करती है, जिसके तहत स्मार्ट और प्रभावी कार्य करने के लिए पुलिस कमिश्नर के पास कुछ मजिस्ट्रेट शक्तियां भी होती हैं।
ये सिस्टम कई महानगरों में पहले से ही थी। वास्तव में ये सिस्टम अंग्रेजों के जमाने से है। तब ये सिस्टम कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में थी। लिहाज़ा यह कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि ये सिस्टम हमें विरासत में मिला है।
पूरे देश में पुलिस प्रणाली पुलिस अधिनियम, 1861 पर आधारित थी और आज भी ज्यादातर शहरों में पुलिस प्रणाली इसी अधिनियम पर आधारित है।

क्या है नई प्रणाली ?
नई प्रणाली के तहत, लखनऊ में एक पुलिस कमिश्नर , दो संयुक्त कमिश्नर और नौ एसपी रैंक के अधिकारियों के साथ एक महिला एसपी रैंक की अधिकारी की जाएंगी, जो विशेष रूप से महिला सुरक्षा के लिए तैनात होंगी। वहीं, गौतम बुद्ध नगर में दो पुलिस कमिश्नर के अलावा, अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर, पांच एसपी रैंक के अधिकारी और महिला सुरक्षा के लिए एक महिला एसपी तैनात की जाएंगी।