क्या कोरोना संक्रमित मरीजों को लगवानी चाहिए वैक्सीन? विशेषज्ञ ने दिया ये जवाब

संपदा, आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



पूरे देश में 16 जनवरी से कोरोना के खिलाफ टीकाकरण का कार्यक्रम अभियान शुरु होने वाला है। राहत की बात यह है कि कोरोना संक्रमित लोग धीरे-धीरे स्वस्थ हो रहे हैं। देश में लगभग 96.43 फीसदी लोग अब तक ठीक हो चुके हैं। इसके साथ ही कोरोना से मृत्यु दर भी 1.44 हो गई है जो कि, अन्य देशों के अपेक्षा बेहद कम है। बता दें कि टीकाकरण अभियान पूरे देश में शुरु होने जा रहा है इसको लेकर लोगों के मन में कई सवाल उठ रहे हैं। लोगों के सवालों का जबाव देते हुए दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के डॉ. राजेंद्र के. धमीजा का कहना है कि संक्रमितों को पहले होम आईसोलेशन के नियमों का पालन करना चाहिए। यदि अस्पताल में भर्ती हुए हैं तो डॉक्टरों की निगरानी में रहना चाहिए। चूंकि कोरोना संक्रमित हुए लोगों से दूसरे लोगों में कोरोना न फैले इसलिए उन्हें कोरोना का टीका लगवाने के लिए बाहर नहीं निकलना चाहिए। उन्होंने आगे कहा है कि इसमें नुकसान न पहुंचाने वाले वयरस को लेकर उसके जीनोम में सार्स कोविड-19 वायरस का आरएनए मैसेंजर डाला जाता है। इसके बाद इसके नुकसान न पहुंचाने वाले वायरस को शरीर में इंजेक्शन के द्वरा डाला जाता है। जो कि हमारे शरीर में प्रोटीन बनाने का काम करता है। जिसके बाद हमारे शरीर में एंटीबॉडी बनना शुरु हो जाती है। ऐसे में कोरोना वायरस हमारे शरीर को प्रवाहित नहीं कर सकेगा।