आईआईएमटी कॉलेज कर रहा है कोरोना की चपेट में आने वालों के भोजन की व्यवस्था

आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क, ग्रेटर नोएडा



कोरोना संक्रमित होने पर लोग अक्सर अपनों से भी मुंह मोड़ लेते हैं। ऐसे में होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों को भोजन की दिक्क्तों का सामना करना पड़ता है। मरीजों की सांसें उखड़ती और टूटती देख आईआईएमटी ग्रुप ऑफ कालेज ने मेरठ और ग्रेटर नोएडा में एक बार फिर से लोगों की सेवा करने का बीड़ा उठाया है। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए घरवाले, रिश्तेदार, और पड़ोसी कोरोना पीड़ित से नजरे बचाने लगते हैं, क्योंकि उन लोगों को भी कोरोना का खतरा बना रहता है। तबीयत खराब होने पर कोरोना से पीड़ित व्यक्ति भोजन बनाने का सामान लेने के लिए न तो बाजार जा पाता है और न ही घर पर अपना खाना बना पाता है। ऐसे में संक्रमित परिवारों को निशुल्क खाना पहुंचाने के लिए आईआईएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज पिछले कई महीनों से काम कर रहा है।
आईआईएमटी समूह के चेयरमैन योगेश मोहन गुप्ता ने कहा है कि संक्रमण काल में हर व्यक्ति की सामाजिक जिम्मेदारी बनती है कि वह असहाय लोगों की मदद करे। कॉलेज प्रबंधन पहले भी अपनी सामाजिक जिम्मेदारी निभाता रहा है। इस पुण्य के काम के लिए प्रबंधन ने मेरठ के लिए 9458638065 और ग्रेटर नोएडा के लिए 7302254554 मोबाइल नंबर जारी किया है। संक्रमित व्यक्ति दिए गए नंबर पर सुबह 10 बजे तक फोन कर भोजन उपलब्ध कराने के लिए बोल सकता है। दूसरी तरफ आईआईएमटी आयुर्वेदिक संस्थान से 14 जड़ी- बुटियों से निर्मित ऋषि आयुर्वेदिक काढ़ा भी निशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। पूरी शुद्धता के साथ पोष्टिक भोजन तैयार कराया जाता है। इसमें दाल, रोटी और मौसमी हरी सब्जी के साथ सलाद दिया जाता है। दिन में एक बजे तक कालेज का कर्मचारी संबंधित व्यक्ति के घर के गेट पर खाना पहुंचा देता है।