जालौन के भगवान व्यास मंदिर की महिमा भक्तों को करती है आकर्षित

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



यूपी के जालौन में भगवान व्यास मंदिर की महिमा भक्तों को आकर्षित कर देती हैं। यमुना नदी के तट पर बना व्यास मंदिर अपनी खूबसूरती के लिए भी जाना जाता है। झांसी और कानपुर के मध्य में व्यास मंदिर स्थापित हैं। हवाई मार्ग से कानपुर और लखनऊ पहुंचना पड़ता हैं। कानपुर एयरपोर्ट से 90 किमी और लखनऊ से 160 किमी की दूरी पड़ती हैं। झांसी से दूरी 135 किमी हैं। रेल मार्ग की बात की जाए तो कालपी उरई कानपुर स्टेशन से आसानी पूर्वक पहुंचा जा सकता हैं। श्रद्धालुओं को घूमने के लिए व्यास मंदिर के साथ रावण लंका प्राचीन हनुमान मंदिर राधा माधव घाट सहित व्यासजी की तपोस्थली देखने को मिलती हैं। वहीं 16वीं सदी के 84 गुंबद ब्रिटिश शासन की निशानी हैं। मंदिर के पट सुबह 5:00 बजे से 9:00 तक खुलते हैं। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगवान व्यास अभी भी यमुना की मध्य धार में तपस्या कर रहे हैं। कलयुग में ईश्वरीय अवतार के बाद उनका तप सार्थक हो जांएगा।