सैलानियों की मस्ती दे सकती है कोरोना को दावत, पहाड़ों में पर्यटकों का सैलाब

महामारी की दूसरी लहर तो अपना भयानक रूप दिखा चुकी है। अब बात आती है तीसरी लहर की। इसकी संभावना को लेकर तमाम तरह की चर्चाएं सुनने में आ रही हैं मगर कुछ लोग इसको लेकर गंभीर नहीं हैं

ऐसा इसलिए कहा जा रहा हैं क्योंकि कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर के खतरे होने के बावजूद भी लोगों ने काफी ज्यादा संख्या मे घूमना-फिरना फिर से शुरू कर दिया है। उत्तराखंड और हिमाचल में सैलानियों की संख्या बढ़ती दिख रही है। सोशल मीडिया पर पहाड़ी इलाकों जैसे मनाली, नैनीताल और मसूरी में गए सैलानियों की तस्वीरें काफी वायरल हो रही हैं। । इनमें पर्यटकों की भीड़ को देखा जा सकता है। लोग कोरोना नियमों को ताक पर रखकर मस्ती कर रहे हैं। पुलिस प्रशासन पर मूक दर्शक बन केवल देख रहा है। लेकिन सोशल मीडिया पर पयर्टकों की भीड़ को देखकर यूजर्स भड़के हुए हैं।

वहां घूमने गए लोग ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रख रहे हैं और ना ही मास्क पहन रहे हैं। इन इन पर्यटकों की मस्ती का आलम यह है कि सोशल मीडिया पर लिख रहे हैं कि शिमला शैलानियों से गुलजार है।

आलम ये है कि शिमला आने-जाने के रास्तों पर कई जगह जाम की स्थिति बनी हुई है। लेकिन इस बार कोरोना के कारण पर्यटन नहीं के बराबर था। और अब अचानक से काफी संख्या में वहां सैलानी पहुंच गए हैं। होटल मालिक इससे काफी खुश हैं लेकिन स्थानीय लोग कोविड प्रोटोकॉल को लेकर सवाल उठा रहे हैं।