श्रीलंका में कोरोना से मरने वाले सभी धर्म के लोगों का होगा दाह-संस्कार

श्रीलंका सरकार ने कोरोना से संक्रमित मृतकों को जलाकर कर दाह संस्कार अनिवार्य कर दिया है। 800 से 1200 डिग्री सेलसियस के तापमान पर कम से कम 45 मिनट से एक घंटे तक मृतकों के शवों को जलाने के लिए सरकार नोटिफिकेशन जारी किया। स्वस्थ व क्षेत्रिय स्वास्थय सेवा मंत्री के अनुसार आगे चलकर भविष्य में हमें संक्रमित शवों से किसी भी तरह का जैविक खतरा ना हो इसलिए यह कदम उठा रहे हैं। वहीं मुस्लिम समुदाय ने सरकार के इस फैसले का विरोध किया है। मुस्लिम समाज का कहना है कि ऐसा करना उनके मज़हब के रिवाज के खिलाफ है, परन्तु श्रीलंका सरकार उनके विरोध को अनसुना कर दिया है और अपने फैसले पर अड़िग है।
श्रीलंका सरकार ने यह भी निर्देश दिया कि मृतक के इलाज के दौरान उपयोग होने वाले चिकित्सा व सुरक्षा उपकरण और मृतक के सारे वस्त्र भी शव के साथ ही जला दिए जाए ताकि किसी भी तरह कि हानि ना हो। दाह के बाद मृतक के परीजनों को बची हुई राख दी जा सकती है।

आप चूक गए होंगे