मल्टी-टास्क वर्कर्स के पदों पर निकली बंपर भर्ती

भर्ती

शिक्षा विभाग में आठ हजार मल्टी टास्क वर्कर्स की भर्ती शुरू हो गई है। चार हजार पद मुख्यमंत्री की अनुशंसा पर भरे जाएंगे, जबकि चार हजार पद का चयन एसडीएम की अध्यक्षता वाली कमेटी करेगी। खंड प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी के पास सादे कागज पर चार हजार पदों के लिए आवेदन करना होगा। मुख्यमंत्री की अनुशंसा वाले आवेदनों की सत्यता को भी एसडीएम की कमेटी जांचेगी। विभाग के पास काफी ज्यादा आवेदन पहुंचे हैं। मल्टी टास्क वर्कर्स की भर्ती के लिए तैयार की गई पालिसी के रूल 18 के तहत मुख्यमंत्री को सीधे तौर पर नौकरी देने का अधिकार है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बजट में इसकी घोषणा की थी। इसके लिए नीति तैयार करने में काफी समय लगा। विभाग ने नीति में कुछ बदलाव किए। इसके चलते यह मामला काफी समय से लटका हुआ था।


मल्टी टास्क वर्कर्स भर्ती के लिए विभाग ने जो नियम तय किए थे उसके अनुसार वर्कर्स के घर से स्कूल की दूरी के आधार पर 10 नंबर होंगे। इसमें डेढ़ किलोमीटर के दायरे वाले आवेदक को 10 नंबर दिए जाएंगे। दो किलोमीटर दायरे पर आठ, तीन किलोमीटर पर छह, चार किलोमीटर पर चार और पांच किलोमीटर की दूरी पर दो नंबर मिलेंगे। पांचवीं कक्षा पास को पांच नंबर, आठवीं पास को आठ नंबर मिलेंगे।
विधवा या पति से अलग रहने वाली महिला को तीन नंबर मिलेंगे। स्कूल को भूमि देने वाले परिवार के सदस्य को तीन नंबर दिए जाएंगे। एससी, एसटी, ओबीसी, बीपीएल कोटे के आवेदक को तीन नंबर मिलेंगे। बेरोजगार परिवार के सदस्य को भी तीन नंबर मिलेंगे। जिस गांव या पंचायत के स्कूल में भर्ती की जानी है, वहां के स्थानीय निवासी को प्राथमिकता दी जाएगी। सचिव शिक्षा राजीव शर्मा ने कहा कि भर्ती के लिए प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।