मनाली में भूकंप, एवलांच का ख़तरा

भूकंप

देश की पर्यटन राजधानी हिमाचल के शिमला में आज सुबह भूकंप के तेज़ झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर तीव्रता 4.3 मापी गई है। लोगों ने भूकंप के इतने तेज़ झटकों का सामना किया कि लोग सहम गए। लाहुल-स्पीसति व मंडी में भी झटके महसूस किए गए। अभी तक नुकसान की कोई जानकारी नहीं है। लेकिन पर्वतीय क्षेत्रों में भूकंप के साथ आने वाले ख़तरों की आशंका अभी टली नहीं है। मनाली के एसडीएम डॉक्टर सुरेंद्र ठाकुर ने बताया कि फिलहाल किसी तरह के नुकसान की कोई सूचना मिला है। लेकिन फील्ड स्टाफ को अलर्ट किया गया है कि वे अपने क्षेत्र में पता करें कहीं कोई नुकसान तो नहीं हुआ है।

बीते दो दिनों के भीतर ये तीसरी बार है कि भूकंप ने हिमाचल की धरती को हिला दिया। सोमवार को शिमला और इससे पहले चंबा में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। इसका केंद्र शिमला में जमीन के पांच किलोमीटर नीचे था और ये झटके सोमवार 25 अक्टूबर को सुबह 4.08 बजे आए। इससे पहले चंबा में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे, जिसकी तीव्रता 3.2 के करीब थी।
प्रशासन ने लोगों को अलर्ट कर दिया है कि फिलहाल पर्वतीय इलाकों का रुख न करें। पर्यटकों को भी आगाह कर दिया गया कि वे ऊंचाई वाले व एवलांच संभावित क्षेत्र की तरफ न जाएँ।

वहीं, लाहुल स्‍पीति में भी इसके झटके महसूस होने से खतरा बढ़ गया है। यहां हिमस्‍खलन होने की आशंका बढ़ गई है। हाल ही में लाहुल स्‍पीति में दो से तीन फीट तक हिमपात हुआ है। वहीं, पहाडि़यों पर इससे भी ज्‍यादा बर्फबारी हुई है, भूकंप से हुई हरकत के बाद एवलांच आने का खतरा बढ़ गया है।