पाकिस्तान की ऐतिहासिक जीत,भारत को चटाई 10 विकेट से धूल

भारत

भारत के इतिहास में ब्लैक डे के रूप में 24 अक्टूबर, दिन रविवार को याद रखा जाएगा। इस दिन को भारतीय क्रिकेट फैंस कभी भूल नहीं पाएगा और पाकिस्तानी टीम के लिए कभी भूलाया न जाने वाला दिन। पहली बार वर्ल्ड कप के इतिहास में पाकिस्तान ने एकतरफा मुकाबले में भारतीय टीम को बुरी तरह से हरा दिया है। कोहली एंड कंपनी कल पाकिस्तान के खिलाफ बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में बेदम,लाचार और बेसहाय दिख रही थी। जिसके कारण टीम इंडिया को पाकिसतान से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। आप सभी जानते हैं कि भारत और पाकिस्तान का मुकाबला आम मैच की तरह नहीं बल्कि महामुकाबला की तरह रहता है। इस मैच को देखने के लिए करोड़ो फैंस अपना सारा काम छोड़कर इन दोनों टीमों के मैच का लुत्फ उठाते हैं और भारतीय टीम का मनोबल बढ़ाते हैं। इस हार ने भारतीय प्रशसकों का दिल ही नहीं दुखाया,बल्कि सिर भी झुक गया है। टी-20 विश्व कप के पहले ही मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा। पाकिस्तान ने भारत को 10 विकेट से हरा दिया है।


मैच की बात करें तो पाकिस्तान टीम ने टॉस जीतकर पहले भारतीय टीम को पहले बल्लेबाजी करने का न्योता दिया। भारत ने पावरप्ले के अंदर ही अपना तीन महत्वपूर्ण विकेट गंवा दिया। जिसके कारण भारतीय टीम बैकफुट पर आ गई। भारत की तरफ से ओपनर रोहित शर्मा बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए। टी20 में रोहित शर्मा 7वीं बार शून्य पर आउट हुए। उसके बाद तीसरे ओवर में लोकेश राहुल भी 3 रन बनाकर जल्दी आउट हो गए। इस दोनों सलामी बल्लेबाज को शाहीन अफरीदी ने आउट करके अपने टीम को बहुत बड़ी सफलता दिलाई। वहीं भारतीय टीम पहला बाउंड्री 18 गेंद के बाद लगाई,जब सूर्यकुमार यादव ने शाहीन के गेंद पर छक्का लगाया। जबकि तीसरे विकेट के लिए कोहली और सूर्यकुमार में 21 गेदों में 25 रन जोड़कर पारी को संभाला। इसी बीच हसन अली ने विश्व कप डेब्यू प्लेयर सूर्यकुमार को आउट करके भारत को एक और बड़ा झटका दे दिया। वहीं चौथे विकेट के लिए ऋषभ पंत और विराट कोहली में 40 गेंदों पर 53 रन की अहम पार्टनरशिप हुई। वहीं अच्छी लय में दिख रहे ऋषभ पंत को 39 रन के स्कोर पर शादाब खान ने चलता किया। जबकि कप्तान कोहली अकेले टीम को एक छोड़ पर संभाले रखा और बेहतरीन 57 रनों की पारी खेली। लेकिन कप्तान की यह पारी बड़े स्कोर खड़ा करने में नाकाम रही। उसके बाद ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने 13 और हार्दिक पांड्या ने 11 रन ही बनाए। कप्तान कोहली की अर्धशतकीय पारी की बदौलत टीम इंडिया ने 151 रन का टारगेट खड़ा किया था। टी-20 वर्ल्ड कप में विराट कोहली बतौर कप्तान भारत के लिए फिफ्टी लगाने वाले पहले खिलाड़ी बने।


152 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाजों ने तुफानी बल्लेबाजी करते हुए मैच को एकतरफा बना दिया। इस दोनों ओपनरों ने भारतीय गेंदबाजों को एक बार भी आउट करने का मौका ही नहीं दिया। शुरू से ही दोनों ओपनर बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान टीम इंडिया के बॉलर पर पूरी तरह से हावी रहे। कप्तान बाबर आजम ने 52 गेंदों पर नाबाद 68 और मोहम्मद रिजवान ने 55 गेंदों पर नाबाद 79 रनों की मैच जिताऊ पारी खेली। वहीं पाकिस्तान टीम ने मुकाबला 13 गेंद शेष रहते हुए मैच अपने नाम कर लिया।
गौरतलब है कि यह पाक टीम की किसी भी विश्व कप में भारत पर पहली जीत है। टी-20 विश्व कप में अब तक दोनों टीमों के बीच छह मैच हुए हैं। इसमें से पांच मैच भारत और पाकिस्तान ने एक मैच जीता है। वनडे विश्व कप और टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की भारत के खिलाफ ये पहली जीत रही। बता दें कि टीम इंडिया और पाकिस्तान के बीच वर्ल्ड कप के इतिहास का पहला मुकाबला 1992 में खेला गया था। उस समय से आज तक भारत एक बार भी पाकिस्तान से वर्ल्ड कप के मैचों में नहीं हारा था, लेकिन ये सिलसिला आज थम गया। टी-20 मैचों में पहली बार किसी टीम ने भारत को 10 विकेट से मात दी है। विश्व कप के मैचों में पाकिस्तान से हारने वाले विराट कोहली भारत के पहले कप्तान बने।