कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर डॉ. यादव ने निजी अस्पतालों के प्रबंधकों के साथ की बैठक

डॉ

कोरोनावायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर सोमवार को गुरुग्राम के सीएमओ डॉ. विरेंद्र यादव ने शहर के उन बड़े निजी अस्पताल और प्राइवेट पैथोलॉजी लैब के प्रबंधकों के साथ बैठक की है, जहां विदेशों से लोग इलाज कराने पहुंचते हैं। डॉ. यादव ने कहा कि विदेश से आने वालों में अगर कोई कोरोना संक्रमित मरीज मिलता है तो तुरंत स्वास्थ्य विभाग को सूचना देनी होगी। स्वास्थ्य विभाग उसकी जीनोम ट्रेसिग जांच रोहतक पीजीआइ में कराएगा।

पैथोलॉजी लैब वालों को कहा गया है कि मरीजों का स्थायी पता और उनका मोबाइल फोन लेने के बाद जांच कर लें कि वह सही है या नहीं। क्योंकि कई बार मरीज की तरफ से फोन नंबर गलत दिए गए हैं। इस लिए मरीजों को खास ध्यान देना है ताकि वह गलत पता व फोन नंबर नहीं दे पाए।

डॉ. यादव ने कहा कि सरकार ने 12 देशों से आने वाले यात्रियों पर खास नजर रखने व जांच के आदेश दिए है। इन देशों में ब्रिटेन, साऊथ अफ्रीका, बंगलादेश, ब्राजील, चीन, न्यूजीलैंड, जिबाब्वे, मारिशस, बोत्सवाना, सिगापुर और इजराइल,हांगकांग शामिल है। इन देशों से आने वालों की अगर जांच रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो भी सात दिन उसे क्वारंटाइन रहना होगा। इस मौके पर डा. जेपी राजलीवाल, डा. अनुज गर्ग, डा. एमपी सिंह, डा. प्रदीप कुमार भी उपस्थित थे।

आप चूक गए होंगे