जैक डोर्सी ने छोड़ा ट्विटर के CEO का पद, भारतीय मूल के पराग अग्रवाल को मिली जिम्मेदारी

ट्विटर

अमित सिंह। ट्विटर के को-फाउंडर जैक डोर्सी के कंपनी के CEO पद से इस्तीफा देने के बाद पराग अग्रवाल कंपनी के लए CEO होगें । 37 साल के पराग मूल रुप से भारतीय हैं , उन्होंने इसे सम्मान की बात बताई है। उन्होंने 10 साल पहले कंपनी जॉइन करी थी और वे अब तक कंपनी में चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर के पद पर थे।
IIT बॉम्बे से पढ़ाई करने वाले पराग अग्रवाल स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से डॉक्टरेट भी हैं । 2018 में पराग अग्रवाल ट्विटर के द्वारा एडम मेसिंजर की जगह चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर बनाए गऐ थे।

ऐप की स्थापना


डोर्सी ने अपने तीन साथियों के साथ 21 मार्च 2006 को सेन फ्रांसिस्को में इस ऐप की स्थापना की थी । इसके बाद वे सबसे बड़े टेक्नोलॉजी इंटरप्रेन्योर्स में से एक बन गए थे ।


डोर्सी की आखिरी चिठ्ठी


फाउंडर जैक डोर्सी ने स्टाफ को लिखी अपनी आखिरी चिठ्ठी में कहा कि “ मैंने ट्विटर छोड़ने का फैसला किया है, क्योंकी मैं मानता हूँ कि अब ट्विटर अपने फाउंडरस से अलग होने को तैयार है । ट्विटर के नए CEO के तौर पर मुझे पराग पर पूरा भरोसा है। पिछले 10 सालों में उनका काम बदलाव लाने वाला रहा है। वे अपने स्किल , दिल और आत्मा से काम करते हैं , जिसके लिए मैं उनका तहेदिल से शुक्रगुजार हूं। अब ट्विटर को सम्भालना उनका काम है। ”

आप चूक गए होंगे